January 27, 2023
UK 360 News
उत्तराखण्डचमोलीत़ाजा खबरेंदेहरादून

आजादी के पचहत्तर साल बाद भी पहाड़ के हालात आज भी बत्तर। स्वास्थ्य सुविधाओं के अभाव में ग्रामीण की मौत।

कहने तो उत्तराखंड राज्य में स्वास्थ्य सुविधाओं का टोटा कोई नया किस्सा नहीं,बल्कि अब पहाड़ियों के जीवन का हिस्सा बन चुका है। सरकारों जिम्मेदारों के लिए उत्तराखंड राज्य किसी नाटकीय अभिनय के मंच की तरह हो गया है, पर्दे पर आओ अभिनय दिखाओ और तालियां बजवाओ लेकिन पर्दे के पीछे के हालात आज भी उसी तरह अव्यस्थित हैं, इनमें कोई बदलाव नहीं आया है। ताजा मामला मामला उत्तराखंड के पहाड़ी जनपद चमोली से सामने आया है, जहां रौता गांव में एक बुजुर्ग की अचानक तबीयत बिगड़ने पर ग्रामीणों ने डोली के सहारे 10 किमी पैदल चलकर अस्पताल तक पहुंचाया, अस्पताल में भी सुविधाओं का अभाव रहा, जिस कारण उन्हें ऋषिकेश एम्स रेफर किया गया लेकिन समय पर उचित इलाज न मिलने पर बुजुर्ग की मौत हो गई। परिजनों और ग्रामीणों ने स्थानीय प्रशासन व पीएमजीएसवाई पर लापरवाही का आरोप लगाया।

Related posts

अल्मोड़ा किशोरी गृह की नाबालिग निकली गर्भवती

ANAND SINGH AITHANI

उच्चतम न्यायालय का यौन उत्पीड़न पीड़िताओं को लेकर अदालतों को आदेश

ANAND SINGH AITHANI

सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय ने स्वच्छता और लंबित संदर्भों के निपटान के लिए विशेष अभियान 2.0 आरंभ किया

UK 360 News
X
error: Alert: Content selection is disabled!!
Join WhatsApp group