January 26, 2023
UK 360 News
राष्ट्रीय

उपराष्ट्रपति ने त्रिपुरा के गौरवशाली इतिहास और समृद्ध सांस्कृतिक विरासत की प्रशंसा की

उपराष्ट्रपति श्री जगदीप धनखड़ ने अपना पद संभालने के बाद राज्यों के अपने पहले दौरे पर आज त्रिपुरा और पश्चिम बंगाल का दौरा किया।

अपने दिन भर के दौरे के दौरान, उपराष्ट्रपति ने “त्रिपुरा की ऐतिहासिक और सांस्कृतिक विरासत” पर एक प्रदर्शनी का उद्घाटन किया और अगरतला में महाराजा बीर बिक्रम कॉलेज में “त्रिपुरा में शैक्षिक विकास के नए क्षितिज” पर एक संगोष्ठी की अध्यक्षता की। इस अवसर पर अपनी बात रखते हुए श्री धनखड़ ने नई शिक्षा नीति-2020 के कार्यान्वयन की दिशा में उठाए गए कदमों सहित शिक्षा के क्षेत्र में राज्य की कई उपलब्धियों की सराहना की। उन्होंने कहा, “यह एक सुविचारित नीति है जिसका उद्देश्य हमारे शिक्षा क्षेत्र में परिवर्तन करना और भारत को फिर से विश्व गुरु बनाना है।”

पूर्वोत्तर राज्य की अपनी पहली यात्रा को यादगार बताते हुए, श्री धनखड़ ने कहा कि त्रिपुरा के लोगों द्वारा दिखाए गए गर्मजोशी और स्नेह से वह बहुत प्रभावित हुए हैं। उन्होंने कहा, “मैं आपकी आकांक्षाओं और सपनों को समझता हूं।” उपराष्ट्रपति ने राज्य के गौरवशाली इतिहास और समृद्ध सांस्कृतिक विरासत की प्रशंसा करते हुए कहा कि त्रिपुरा और अन्य उत्तर पूर्वी राज्य भारत की एक्ट ईस्ट पॉलिसी के स्तंभ हैं।

श्री धनखड़ ने छात्रों से मौलिक कर्तव्यों का पालन करने की भी अपील की क्योंकि इससे उन्हें देश के बेहतर नागरिक बनने में मदद मिलेगी।

इससे पहले दिन में, उपराष्ट्रपति अपनी पत्नी डॉ. सुदेश धनखड़ के साथ उदयपुर, त्रिपुरा में माता त्रिपुरेश्वरी मंदिर गए और पूजा की। दौरे के दौरान उन्हें प्रसिद्ध शक्तिपीठ में हो रहे विकास कार्यों की जानकारी ली गई। उन्होंने कहा, “पवित्र शक्तिपीठ मानवता और कल्याण का प्रतीक है। यह जानकर खुशी हुई कि इस प्रतिष्ठित प्राचीन मंदिर में एक सुविचारित, बड़े पैमाने पर विकास आकार ले रहा है।”

श्री धनखड़ ने राजभवन, अगरतला में राज्यपाल श्री सत्यदेव नारायण आर्य और अन्य गणमान्य व्यक्तियों के साथ बातचीत भी की।

इन कार्यक्रमों के दौरान त्रिपुरा के मुख्यमंत्री श्री माणिक साहा उपराष्ट्रपति के साथ थे। अपनी त्रिपुरा यात्रा के बाद, उपराष्ट्रपति अगरतला हवाई अड्डे से कोलकाता के लिए अपनी आगे की यात्रा के लिए रवाना हुए, जहाँ उन्हें त्रिपुरा के राज्यपाल, श्री सत्यदेव नारायण आर्य, मुख्यमंत्री, प्रोफेसर (डॉ.) माणिक साहा और अन्य गणमान्य व्यक्तियों द्वारा विदाई दी गई।

Related posts

श्री फग्गन सिंह कुलस्ते ने आईआईटीएफ, नई दिल्ली में स्टील पवेलियन का उद्घाटन किया

SONI JOSHI

सूचना और प्रसारण सचिव ने केंद्रीय संचार ब्यूरो, सूचना भवन, दिल्ली में स्वच्छता के लिए विशेष अभियान 2.0 के तहत हुई प्रगति की समीक्षा की

UK 360 News

भारतीय प्रतिस्पर्धा आयोग (सीसीआई) ने प्रतिस्पर्धा अधिनियम, 2002 की धारा 31(1) के तहत इंडइन्फ्राविट ट्रस्ट (इंडइन्फ्राविट) द्वारा पांच एसपीवी के अधिग्रहण और सीपीपी इन्वेस्टमेंट बोर्ड प्राइवेट होल्डिंग्स (4) इंक (सीपीएचआई-4) को इंडइन्फ्राविट की इकाइयों के आवंटन को मंजूरी दी

UK 360 News
X
error: Alert: Content selection is disabled!!
Join WhatsApp group