December 3, 2022
UK 360 News
त़ाजा खबरेंराष्ट्रीय

‘सक्षम आंगनवाड़ी और पोषण 2.0’ – एक एकीकृत पोषण सहायता कार्यक्रम के दिशानिर्देश जारी किए

महिला एवं बाल विकास मंत्रालय ने ‘सक्षम आंगनवाड़ी और पोषण 2.0’ के कार्यान्वयन के संबंध में परिचालन दिशानिर्देश जारी किए हैं। इस योजना को भारत सरकार ने 15वें वित्त  आयोग की अवधि 2021-22 से 2025-26 के दौरान कार्यान्वयन के लिए मंजूरी दी है।

सक्षम आंगनवाड़ी और पोषण 2.0 एक एकीकृत पोषण सहायता कार्यक्रम है। यह पोषण सामग्री और वितरण में एक रणनीतिक बदलाव के माध्यम से बच्चों, किशोर लड़कियों, गर्भवती महिलाओं और स्तनपान कराने वाली माताओं में कुपोषण की चुनौतियों का समाधान करना चाहता है और स्वास्थ्य, कल्याण और प्रतिरक्षा का पोषण करने वाली कार्य प्रणालियों को विकसित करने और बढ़ावा देने के लिए एक सम्मिलित इको-सिस्‍टम बनाना चाहता है।

वर्तमान पोषण कार्यक्रम में विभिन्न अंतरालों और कमियों को दूर करने और कार्यान्वयन में सुधार के साथ-साथ पोषण और बाल विकास परिणामों में सुधार में तेजी लाने के लिए, मौजूदा योजना घटकों को पोषण 2.0 के तहत नीचे दिए गए मुख्‍य कार्यक्षेत्रों में पुनर्गठित किया गया है:

  • आकांक्षी जिलों और पूर्वोत्‍तर क्षेत्रों (एनईआर) में 06 माह से 6 वर्ष के आयु वर्ग के बच्चों, गर्भवती महिलाओं और स्तनपान कराने वाली माताओं (पीडब्लूएलएम) और 14 से 18 वर्ष की आयु वर्ग की किशोरियों के लिए पूरक पोषण कार्यक्रम (एसएनपी) के माध्यम से पोषण के लिए पोषण सहायता;
  • प्रारंभिक बाल्यावस्था देखभाल और शिक्षा [3-6 वर्ष] और प्रारंभिक प्रोत्‍साहन (0-3 वर्ष);
  • आधुनिक, उन्नत सक्षम आंगनवाड़ी सहित आंगनबाडी बुनियादी ढांचा; तथा
  • पोषण अभियान

पोषण 2.0 के उद्देश्य इस प्रकार हैं:

• देश के मानव पूंजी विकास में योगदान करने के लिए;

• कुपोषण की चुनौतियों का समाधान करना;

• स्थायी स्वास्थ्य और कल्‍याण के लिए पोषण जागरूकता और खाने की अच्छी आदतों को बढ़ावा देना; तथा

• प्रमुख रणनीतियों के माध्यम से पोषण संबंधी कमियों को दूर करना।

पोषण 2.0 मातृ पोषण, शिशु और छोटे बच्चे के आहार के मानदंड, एसएएम / एमएएम के लिए उपचार प्रोटोकॉल और आयुष कार्य प्रणालियों के माध्यम से सम्‍पूर्ण स्‍वास्‍थ्‍य और स्टंटिंग और एनीमिया के अलावा कम वजन के प्रचलन के लिए ‘पोषण ट्रैकर’ से द्वारा समर्थित, पर ध्यान केंद्रित करेगा, एक नया, मजबूत आईसीटी केंद्रीकृत डेटा प्रणाली जिसे स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के आरसीएच पोर्टल (अनमोल) से जोड़ा जा रहा है।

पोषण 2.0 में स्टंटिंग और एनीमिया के अलावा कम वजन के प्रसार को कम करने के लिए मातृ पोषण, शिशु और छोटे बच्चे के आहार के मानदंड, एसएएम / एमएएम के लिए उपचार प्रोटोकॉल और आयुष कार्य प्रणालियों के माध्यम से कल्याण पर ध्यान केंद्रित किया जाएगा। पोषण ट्रैकर ’द्वारा समर्थित, एक नया, मजबूत आईसीटी केन्‍द्रीकृत डेटा सिस्टम जिसे एमओएचएफडब्‍ल्‍यू के आरसीएच पोर्टल (अनमोल) से जोड़ा जा रहा है।

Related posts

केरल में निर्माणाधीन वाहन अंडरपास का स्लैब गिरा, किसी के हताहत होने की खबर नहीं

UK 360 News

राजा राममोहन राय के जीवन पर आधारित नृत्य-नाटिका का दो दिवसीय मोहक मंचन आज कर्तव्य पथ पर संपन्न हुआ

UK 360 News

आत्मनिर्भर भारत बनाने के लिए हमें कृषि में आत्मनिर्भर बनना आवश्यक है : कृषि राज्य मंत्री कैलाश चौधरी

UK 360 News
X
error: Alert: Content selection is disabled!!
Join WhatsApp group