अल्मोड़ा कर्नाटक खोला की विख्यात रामलीला में देर रात तक चल रही है तालीम,रामलीला को अधिक भव्य बनाने के लिए सात घन्टें अभ्यास कर रहे हैं कलाकार

News Desk
3 Min Read

- Advertisement -
Ad imageAd image

अल्मोड़ा कर्नाटक खोला की विख्यात रामलीला को भव्य बनाने के लिए कलाकार लगातार सात घन्टे का अभ्यास कर रहे हैं।  श्री रामलीला कमेटी कर्नाटक खोला के सभागार में अभ्यास /प्रशिक्षण प्रत्येक दिन सायं चार बजे से रात्रि ग्यारह बजे तक आयोजित किया जा रहा हैं।श्री रामलीला कमेटी कर्नाटक खोला के संस्थापक/संयोजक वरिष्ठ रंगकर्मी बिट्टू कर्नाटक ने बताया कि कर्नाटक खोला रामलीला कमेटी में इस बार भी रामलीला के साथ साथ तीन दिवसीय महिलाओं की रामलीला पृथक से आयोजित की जाएगी। रामलीला भवन के सभागार में नियमित रामलीला एवं मंच सभागार में महिलाओं की रामलीला की अलग अलग तालीम कलाकारों द्वारा आयोजित की जा रही है।

हारमोनियम और तबले की थाप पर कलाकार अपने अपने किरदार को जीवन्त बनाने के लिए मेहनत कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि रामलीला के अधिकतर किरदार तय कर दिये गये हैं तथा दर्जनों की संख्या में नये युवा जो इस बार श्री रामलीला कमेटी कर्नाटक खोला से जुड़ रहे हैं उनकी योग्यता के आधार पर शीघ्र ही उनके किरदार भी तय कर दिये जाएंगे।विदित हो कि बिट्टू कर्नाटक कर्नाटक खोला की रामलीला में विगत 32 वर्षों से दशानन रावण का जीवन्त अभिनय करते आ रहे हैं।

श्री कर्नाटक ने बताया कि रामलीला के लिए पात्रों के वस्त्र बनाने का सिलसिला भी प्रारम्भ हो गया है जो दिल्ली में तैयार किये जा रहे हैं। रामलीला को अधिक प्रभावशाली बनाने के लिए साउण्ड की व्यवस्था भी दिल्ली के एक प्रसिद्ध साउण्ड स्टोर से की जा रही है।दर्शक दीर्घा को भी व्यवस्थित किया जा रहा है ताकि अधिक से अधिक लोग आराम के साथ बैठकर रामलीला का आनन्द ले सके।मंच के दो सौ मीटर के दायरे में पथ प्रकाश की भी व्यवस्था की गयी है।इसके साथ ही सुरक्षा की दृष्टि से रामलीला मंच के चारों ओर सी सी टी वी कैमरे लगाए जा चुके हैं।श्री रामलीला कमेटी कर्नाटक खोला के प्रबंधक देवेन्द्र प्रसाद कर्नाटक ने बताया कि उत्तराखंड के बाहर से भी लोग रामलीला देखने आने के लिए लगातार सम्पर्क कर रहे है जिसकी व्यवस्था भी उनके द्वारा की जा रही है।

 उन्होंने बताया कि कर्नाटक खोला की रामलीला को फेसबुक लाईव के माध्यम से भी पूरे देश सहित विदेशों में भी लोग देखते हैं जिसके लिए एक टीम तैयार की जा रही है जो फेसबुक लाईव के माध्यम से रामलीला का लाईव प्रसारण करेगी। उन्होंने आगे कहा कि यदि कोई कलाकार रामलीला में अभिनय करना चाहता है तो वह 25 सितम्बर तक श्री रामलीला कमेटी कर्नाटक खोला में सायं 6 बजे आकर उनसे सम्पर्क कर सकता है। उन्होंने कहा कि श्री रामलीला कमेटी कर्नाटक खोला का उद्देश्य संस्कृति के प्रचार प्रसार के साथ उन कलाकारों को भी मंच प्रदान करना है जो इसमें रूचि रखते हैं।

Share This Article
Leave a comment