आउटसोर्स में नौकरी पाने के लिए युवाओं को पहले देनी होगी किस्मत की परीक्षा

News Desk
2 Min Read

- Advertisement -
Ad imageAd image

सरकारी विभागों में आउटसोर्स पदों को भरने के लिए सेवायोजन विभाग ने रोजगार प्रयाग पोर्टल तैयार किया है। आउटसोर्स में नौकरी पाने के लिए युवाओं को पहले किस्मत की परीक्षा देनी होगी। आवेदकों की संख्या अधिक होने पर कंप्यूटर से रेंडम आधार पर प्रतिभागियों की सूची तैयार की जाएगी। ऐसे में अगर भाग्य ने साथ दिया तो ही चयन प्रक्रिया में जगह मिलेगी।

रोजगार प्रयाग पोर्टल को लेकर जारी शासनादेश के मुताबिक, भर्ती प्रक्रिया में पदों के सापेक्ष तीन गुना अभ्यर्थियों को ही साक्षात्कार और परीक्षा के लिए बुलाया जाएगा। आवेदक अधिक होने पर रेंडम आधार पर छंटनी की जाएगी। ऐसे में अन्य आवेदक चयन प्रक्रिया में शामिल नहीं हो सकेंगे। कंप्यूटर के आधार पर प्रतिभागियों का रेंडम चयन होने पर कई योग्य आवेदक चयन प्रक्रिया में शामिल होने से वंचित रह जाएंगे।

ठेकेदारी प्रथा से मिले निजात
बेरोजगार युवाओं का कहना है कि रोजगार प्रयाग पोर्टल पर चयन प्रक्रिया सेवाप्रदाता के अतंर्गत नहीं, बल्कि सेवायोजन विभाग या सरकारी विभागों के अधीन होनी चाहिए जिससे सरकार की ओर से मिलने वाली राशि सीधे कार्मिक के खाते में जाए। जैम पोर्टल पर पंजीकृत सेवाप्रदाता के अंतर्गत भर्ती करने पर सेवाप्रदाता अपना कमीशन काट लेगा।

रिक्तियों के प्रकाशन के 24 घंटे बाद करें रजिस्ट्रेशन
रोजगार प्रयाग पोर्टल में कई युवा रजिस्ट्रेशन करने का प्रयास कर रहे हैं लेकिन रजिस्ट्रेशन नहीं हो पा रहा है। युवा लगातार सेवायोजन विभाग में अधिकारियों और कर्मचारियों को फोन कर पंजीकरण ना होने की शिकायत कर रहे हैं। वहीं विभागीय अधिकारियों का कहना है कि प्रयाग पोर्टल वेकेंसी आधारित है। पोर्टल पर रिक्तियों के प्रकाशन के 24 घंटे बाद अंतिम तिथि तक आवेदन कर सकते हैं।

Share This Article
Leave a comment