ज्ञानवापी मामले में कोर्ट के आदेश से संत समाज में खुशी की लहर

News Desk
2 Min Read

- Advertisement -
Ad imageAd image

अयोध्या में भगवान श्री राम का भव्य मंदिर बनने वाला है तो वही वाराणसी में स्थित काशी विश्वनाथ मंदिर विवाद का मामला खत्म होता नजर आ रहा है क्योंकि ज्ञानवापी मस्जिद मामले में अब वाराणसी कोर्ट के द्वारा एएसआई सर्वे की इजाजत दी है वाराणसी कोर्ट ने अपने फैसले में कहा कि वजु स्थल को छोड़कर बाकी पूरे कैंपस का बिना नुकसान पहुंचाए साइंटिफिक सर्वे किया जाए कोर्ट के फैसले के बाद धर्मनगरी हरिद्वार के संतों ने खुशी जाहिर की है और कहां है जल्द वाराणसी में भी भगवान श्रीराम मंदिर की तर्ज पर भव्य मंदिर का निर्माण किया जाए

अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष श्रीमहंत रवींद्रपुरी महाराज का कहना है कि काशी प्राचीन शिव नगरी है हिंदू धर्म शास्त्रों में इसका वर्णन है इनका कहना है कि काशी विश्वनाथ के मंदिर को कई बार तोड़ा गया मगर हिंदू राजाओं ने पुनः उसे स्थापित किया काशी विश्वनाथ मंदिर का पूरा परिसर है मगर वहां पर ज्ञानवापी मस्जिद बनाई गई इसे पूरा विश्व जानता है कोर्ट द्वारा जो फैसला दिया गया है इसका संत समाज स्वागत करते हैं क्योंकि वैज्ञानिक सर्वे के माध्यम से फैसला हिंदू पक्ष के हक में आएगा

बाइट — श्रीमहंत रविंदपुरी महाराज–अध्यक्ष अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद

आदियोगी महाराज का कहना है कि कोर्ट का ऐतिहासिक फैसला है क्योंकि यह विशेष आस्था का नहीं मानवता का है हम मुस्लिम पक्ष से भी अनुरोध करते हैं कि वह खुद ही मंदिर की भूमि मंदिर को सौंप दें इससे आपसी भाईचारा भी बना रहेगा और कोर्ट कचहरी की भी जरूरत नहीं होगी काशी हिंदुओं की प्राचीन नगरी है जब भी इसके बारे में कोई वर्णन आता है तो हिंदुओं को एक अलग ही अनुभूति होती है हम कोर्ट को धन्यवाद देते हैं जो उनके द्वारा इस तरह का फैसला दिया गया

बाइट — आदियोगी महाराज — संत

Share This Article
Leave a comment