हल्द्वानी के तेजस तिवारी बने दुनिया के सबसे युवा चैस प्लेयर

News Desk
2 Min Read

- Advertisement -
Ad imageAd image

हल्द्वानी नगर के युवा खिलाड़ी के नाम एक बड़ा कीर्तिमान जुड़ गया है। हल्द्वानी निवासी साढ़े पांच वर्षीय तेजस तिवारी विश्व के सबसे कम उम्र के शतरंज खिलाड़ी बन गए हैं। इसकी घोषणा अंतरराष्ट्रीय शतरंज महासंघ द्वारा की गई है। तेजस ने इससे पहले कई प्रतियोगिता में कमाल का प्रदर्शन किया है। अंतरराष्ट्रीय शतरंज महासंघ (फिडे) की सूची में उन्हें 1149वीं रेटिंग प्राप्त हुई है। इस सूची के सामने आने के बाद तेजस के परिवार को बधाई मिल रही है। हल्द्वानी के सुभाष नगर क्षेत्र के रहने वाले तेजस तिवारी के पिता का नाम शरद तिवारी और मां का नाम इंदु तिवारी है। उनके पिता एक सामाजिक कार्यकर्ता हैं।

उनके पिता भी शतरंज के खिलाड़ी रह चुके हैं और कुमाऊं विश्वविद्यालय का प्रतिनिधित्व कर चुके हैं। पिता शरद तिवारी ने बताया कि अंतरराष्ट्रीय शतरंज महासंघ की ओर से मिले ईमेल के माध्यम से पता चला कि तेजस दुनिया के सबसे छोटे खिलाड़ी हैं बता दें कि हाल में रुद्रपुर में हुई शतरंज प्रतियोगिता में तेजस ने चार ड्रा और दो जीत के साथ फिडे रेटिंग हासिल की है। छोटे से करियर में वो पांच राष्ट्रीय शतरंज प्रतियोगिताओं में उत्तराखंड का प्रतिनिधित्व कर चुके हैं। तेजस के हुनर ने एक बार फिर साबित कर दिया कि प्रतिभा किसी उम्र की मोहताज नहीं होती है। 

Share This Article
Leave a comment