बारिश से रानीधारा में लोगों के घरों और नौले में घुसा मलबा,लोगों ने किया आक्रोश व्यक्त,सभाषद पहुंचे मौके पर

News Desk
3 Min Read

- Advertisement -
Ad imageAd image

अल्मोड़ा-विगत रात्रि हुई तेज बारिश से रानीधारा क्षेत्र में सड़क से लगते कई घरों में मलबा और पानी भर गया जिससे लोग खासा आक्रोशित नजर आये। स्थानीय सभाषद एवं भारतीय जनता पार्टी के नगर अध्यक्ष अमित साह मोनू आज सुबह से ही रानीधारा क्षेत्र में डटे रहे।जिन लोगों के घरों में पानी और मिट्टी घुसी वे बेहद आक्रोशित नजर आये।उनका कहना था कि रानीधारा सड़क में पड़ रही सीवर लाईन का कार्य संतोषजनक नहीं हो रहा है। सम्बन्धित के द्वारा सीवर लाईन डालने के नाम पर सड़क तो पूरी खोद दी गयी लेकिन इसे ऐसे ही छोड़ दिया गया जिससे सड़क की सारी मिट्टी और मलवा उनके घरों में भर गया।मौके पर पहुंचे लक्ष्मेश्वर वार्ड सभाषद अमित साह मोनू ने कहा कि वे पूरी तरह से लोगों से सहमत हैं।

यह भी पड़ें: गोपालधारा पैदल रास्ते में बना गड्ढ़ा कभी भी बन सकता है राहगीरों के लिए दुर्घटना का सबब,अधिशासी अभियन्ता बोले शीघ्र बन्द होगा गड्ढ़ा |

उनके द्वारा अनेकों बार सीवर लाईन डालने वाले सम्बन्धित विभाग एवं ठेकेदार से इस बारे में कहा गया परन्तु सभी लापरवाह बनने रह जिसके परिणामस्वरूप बीती रात हुई तेज बारिश में सड़क का मलवा और पानी लोगों के घरों में भर गया।सड़क की स्थिति भी इतनी खराब है कि लग रहा यह सड़क ना होकर कोई नाला हो। स्थानीय प्रभावित लोगों का स्पष्ट कहना था कि सीवर लाईन पड़ने से उनके घरों को खतरा उत्पन्न हो गया है। यदि बरसात और होती है तो उन्हें अनहोनी की आशंका है। सभाषद ने कहा कि अगर सीवर लाईन डालने वाले ठेकेदार ने अपना काम तरीके से किया होता तो आज यह नौबत नहीं आती।

सड़क की मिट्टी लोगों के घरों में भरने की घटना को उन्होंने स्पष्ट तौर पर ठेकेदार की लापरवाही बताया‌।हांलाकि नगर पालिका के अमीन बसन्त बल्लभ पाण्डेय और कर्मचारी सभाषद के साथ मौके पर डटे रहे और नौले की सफाई का जारी रहा।जिन लोगों के घरों में मलबा घुसा उन्होंने स्वयं निजी खर्च पर मजदूर लगाकर अपने घरों से मलबा साफ करवाया। मीडिया से बातचीत करते समय महिलाएं भावुक होकर रोने लगी।

यह भी पड़ें: नैनीताल में फटा बादल, घरों में घुसा पानी और मलबा, सुरक्षित स्थान पर पहुंचाए गए लोग

उनका कहना था कि यदि इस सीवर लाईन के मलबे के कारण उनके मकानों को नुकसान पहुंचता है तो इसके लिए सीवर लाईन डालने वाले ही पूरी तरह से जिम्मेदार होंगे। सभाषद अमित साह मोनू ने कहा कि यदि शीघ्र सम्बन्धित विभाग, नगरपालिका और प्रशासन ने रानीधारा का संयुक्त निरीक्षण कर स्थायी समाधान नहीं निकाला तो वे स्थानीय जनता के साथ आन्दोलन करने को बाध्य होंगे।इसके साथ ही सीवर लाईन का कार्य भी संतोषजनक ना होने पर उन्होंने सम्बन्धित ठेकेदार के खिलाफ भी कार्यवाही की मांग की।

Share This Article
Leave a comment