December 2, 2022
UK 360 News
राष्ट्रीय

वाणिज्य मंत्री ने भारत और किर्गिज़ गणराज्य के बीच द्विपक्षीय व्यापार और सांस्कृतिक संबंधों को और मज़बूत बनाने का आह्वान किया

केंद्रीय वाणिज्य और उद्योग, उपभोक्ता मामले, खाद्य और सार्वजनिक वितरण एवं कपड़ा मंत्री श्री पीयूष गोयल ने आज भारत और किर्गिज़ गणराज्य के बीच द्विपक्षीय व्यापार को बढ़ाने और सांस्कृतिक संबंधों को और मज़बूत बनाने का आह्वान किया। श्री पीयूष गोयल व्यापार, आर्थिक, वैज्ञानिक और तकनीकी सहयोग (आईकेआईजीसी) पर भारत-किर्गिज गणराज्य अंतर-सरकारी आयोग के 10वें सत्र को संबोधित कर रहे थे।

आईकेआईजीसी का 10वां सत्र वर्चुअल माध्यम से आयोजित किया गया। इसकी सह-अध्यक्षता श्री पीयूष गोयल और किर्गिज़ गणराज्य के डिजिटल विकास मंत्री श्री इमनोव तलंतबेक ओरुस्कुलोविच ने की। वार्ता सौहार्दपूर्ण और मैत्रीपूर्ण वातावरण में संपन्न हुई।

श्री गोयल ने कहा कि भारत और किर्गिज गणराज्य के बीच सौहार्दपूर्ण और मैत्रीपूर्ण संबंध हैं। उन्होंने कहा कि भारत, मार्च 1992 में किर्गिज़ गणराज्य के साथ राजनयिक संबंध स्थापित करने वाले पहले राष्ट्रों में से एक है और 2022 ने दोनों देशों के बीच राजनयिक संबंधों की 30वीं वर्षगांठ को चिन्हित करते हुए इसे और मज़बूती प्रदान की।

मंत्री महोदय ने कहा कि जून 2019 में प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की किर्गिज़ गणराज्य की यात्रा ने दोनों देशों के बीच संबंधों में रणनीतिक साझेदारी के स्तर तक बढ़ोत्तरी की। श्री पीयूष गोयल ने कहा कि भारत और किर्गिस्तान के बीच द्विपक्षीय व्यापार के विस्तार की अपार संभावनाएं हैं। उन्होंने कहा कि भारत किर्गिस्तान में व्यापार मेले और प्रदर्शनियों में भाग लेने के मामले में बेहद आशान्वित है। उन्होंने भारत में व्यापार प्रदर्शनियों में भाग लेने के लिए किर्गिस्तान को आमंत्रित भी किया।

दोनों पक्षों ने व्यापार और अर्थव्यवस्था, विकास साझेदारी, निवेश, डिजिटलीकरण, बौद्धिक संपदा, कृषि, स्वास्थ्य देखभाल और फार्मास्यूटिकल्स, कपड़ा, शिक्षा, पर्यावरण, मानकीकरण और मेट्रोलॉजी, बैंकिंग, परिवहन, श्रम, खनन और बिजली क्षेत्र में आपसी सहयोग और आगे बढ़ाने के उपायों पर चर्चा की। दोनों देशों ने द्विपक्षीय व्यापार और निवेश के अवसरों को बढ़ाने पर जोर दिया गया। दोनों पक्षों ने दोनों देशों के निर्यातकों और आयातकों के बीच संपर्क बढ़ाने और व्यापार क्षेत्र का विस्तार करने के लिए आवश्यक उपाय अपनाने पर सहमति व्यक्त की।

भारत और किर्गिज़ गणराज्य के बीच आईकेआईजीसी के 10वें सत्र के एक प्रोटोकॉल पर हस्ताक्षर किए गए। दोनों पक्षों ने पारस्परिक रूप से सुविधाजनक तिथि पर आईकेआईजीसी के 11वें सत्र को आयोजित करने पर भी सहमति जताई।

Related posts

उद्योग संवर्धन और आंतरिक व्यापार विभाग (डीपीआईआईटी) ने ‘कारोबारी सुगमता’ पर राष्ट्रीय कार्यशाला का आयोजन किया

UK 360 News

एनएसडीसी इंटरनेशनल ने नवाचार, कौशल और शिक्षा में भारत ऑस्ट्रेलिया व्यापार को बढ़ाने के लिए पेर्डमन के साथ साझेदारी की

UK 360 News

उपराष्ट्रपति ने भारतीय संस्थानों से एक मजबूत पूर्व छात्र नेटवर्क बनाने का आह्वान किया

SONI JOSHI
X
error: Alert: Content selection is disabled!!
Join WhatsApp group