*पूर्व दर्जामंत्री कर्नाटक ने भेजा मुख्यमंत्री को ज्ञापन,बेस अस्पताल/मेडिकल कालेज में एक दर्जन एम्बुलेंस उपलब्ध कराने और स्वास्थ्य सेवाएं सुधारने की करी मांग*

News Desk
4 Min Read

- Advertisement -
Ad imageAd image

अल्मोड़ा-आज पूर्व दर्जामंत्री बिट्टू कर्नाटक ने उप जिलाधिकारी के माध्यम से मुख्यमंत्री को ज्ञापन भेजकर बेस चिकित्सालय में स्वास्थ्य सेवाएं सुधारने की मांग की।ज्ञापन के माध्यम से उन्होंने कहा कि उपरोक्त विषयक आपके संज्ञान में लाना है कि दिनांक 5 अक्टूबर को टाटिक हैलीपैड के निकट प्रातः 9 बजे एक कार दुर्घटनाग्रस्त हो गयी थी जिसमें 7 स्कूल के बच्चे जो संकुल स्तरीय खेल प्रतियोगिता में प्रतिभाग करने जा रहे थे गम्भीर रूप से घायल हो गये।

घायलों को तत्काल मेडिकल कालेज अल्मोडा ले जाया गया जहां भारी अव्यवस्थाओं के बीच तीन बच्चों को तत्काल हायर सेन्टर रेफर किया गया। मेडिकल कालेज में न तो एम्बुलेंस की व्यवस्था हो पायी और न ही बच्चों को एयर लिफ्ट किया जा सका।दो बच्चों को लगभग तीन घंटे के बाद एम्बुलेंस की दयनीय स्थिति के कारण और एक बच्चे को काफी विलम्ब के बाद जब किसी प्रकार एम्बुलेंस की व्यवस्था नहीं हो पायी तो निजी एम्बुलेंस से हायर सेन्टर ले जाया गया।कुमांऊ के पर्वतीय क्षेत्र के लिये अच्छी स्वास्थ्य व्यवस्था के दावे के साथ सरकार ने मेडिकल कालेज अल्मोडा संचालित तो कर दिया लेकिन लोग अब भी अपनी जिन्दगी को बचाने के लिये मैदानी क्षेत्रों का रूख कर रहे हैं।

तीनों बच्चों के सिर पर गहरी चोट थी यदि न्यूरोलॉजिस्ट की तैनाती की गयी होती तो रेफर करने की आवश्यकता नहीं पड़तीं।गम्भीर घायल बच्चों की जिन्दगी के साथ इस तरह का व्यवहार सोचनीय है।इस भीषण हादसे के बाद बेस चिकित्सालय/मेडिकल कालेज अल्मोड़ा की अव्यवस्थायें देखने को मिली।जहां एम्बुलेंस दयनीय स्थिति में है और पर्याप्त फैकल्टी न होने से गम्भीर रूप से घायलों को हायर सेन्टर की दौड़ लगानी पड़ी।

यदि मेडिकल कालेज अल्मोडा में फैकल्टी पूर्ण होती,विशेषज्ञ चिकित्सकों के पद भरे गये होते तो घायलों को हायर सेंटर रेफर नहीं करना पडता।यदि हायर सेंटर रेफर करने के बाद रास्ते में कोई अप्रिय घटना घटित हो जाती तो इसके लिये किसे जिम्मेदार माना जायेगा स्वास्थ्य मंत्रालय अथवा स्वास्थ्य विभाग। ज्ञापन के माध्यम से कहा गया कि प्राथमिकता के आधार पर विशेष रूचि लेते हुये तत्काल अल्मोडा में लचर स्वास्थ्य व्यवस्था हेतु व्यवस्थायें सुचारू करने का कष्ट करेंगे ताकि भविष्य में इसकी पुनरावृत्ति न हो।तत्काल मेडिकल कालेज में न्यूरो सर्जन,हृदय रोग विशेषज्ञ की तैनाती तथा अनुभवी विशेषज्ञ चिकित्सकों की नियुक्ति की जाय।

मेडिकल कालेज में लगभग 12 एम्बुलेंस की व्यवस्था तत्काल प्रभाव से की जाय।ट्रामा सेन्टर तत्काल खोले जाने की स्वीकृति प्रदान की जाय।गम्भीर रोगियों को आपातकाल में एअर एम्बुलेंस से एयर लिफ्ट कर तत्काल हायर सेन्टर ले जाने की व्यवस्था सुनिश्चित की जाय ।राज्य की 108 सेवा का पुर्नगठन कर उन्हें सम्पूर्ण सुविधाओं से सुसज्जित किया जाय।मेडिकल कालेज अल्मोडा में प्रशिक्षित कर्मचारियों की तत्काल नियुक्ति की जानी अति आवश्यक है।

उन्होंने मुख्यमंत्री से अपेक्षा की है कि अल्मोडा की जनता के हित में उपरोक्त कार्य तत्काल किये जाने के कठोर आदेश स्वास्थ्य मंत्रालय तथा विभाग को निर्गत करने का कष्ट करेंगे।इस अवसर पर भूपेन्द्र भोजक,हेम जोशी, प्रकाश सिंह,मुकेश लटवाल,सुधीर कुमार,हसन अंसारी,रमेश चंद जोशी, चंदन सिंह,रोहित शैली,हिमांशु कनवाल,अशोक सिंह सहित अनेकों लोग उपस्थित थे।

Share This Article
Leave a comment