December 1, 2022
UK 360 News
अल्मोड़ाउत्तराखण्ड

भिकियासैंण बाजार में सैकड़ो की तादात में सड़क पर उतर आए लोग।

जिले के भिकियासैंण में हुई घटना से हर कोई विचलित हो रहा है। उपपा के युवा दलित नेता जगदीश चंद्र की हत्या के विरोध में प्रदेश में कई जगह प्रदर्शन हो रहे है। हत्या के विरोध में आज 11 सितंबर यानी रविवार को भिकियासैंण बाजार में सैकड़ो की तादात में लोग सड़क पर उतर आए। भारी सुरक्षा के बीच इस दौरान लोगों ने विशाल जुलूस निकाला। जो बड़ियाली चौक पर समाप्त हुआ। जिसके बाद जनसभा का आयोजन किया गया।उत्तराखंड परिवर्तन पार्टी (उपपा) व तमाम जनसंगठनों व विभिन्न राजनीतिक, सामाजिक कार्यकर्ताओं के नेतृत्व में हुए इस प्रदर्शन में अल्मोड़ा मुख्यालय, द्वाराहाट, रानीखेत, रामनगर, मृतक जगदीश के गांव पनुवादयोखन, सल्ट क्षेत्र समेत कई क्षेत्रों के लोगो ने शिरकत की। इस दौरान आक्रोशित लोगों ने प्रदेश की भाजपा सरकार, स्थानीय विधायक, पुलिस व जिला प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। लोगों ने जगदीश हत्याकांड में भाजपा सरकार की चुप्पी व पीड़ित परिवार को कोई मुआवजा नहीं दिए जाने पर कड़ा आक्रोश व्यक्त किया।

सरकार जगदीश की हत्या की दोषी: तिवारी

उपपा के केंद्रीय अध्यक्ष पी.सी तिवारी ने कहा कि जगदीश हत्याकांड को 11 दिन बीत चुके है लेकिन स्थानीय विधायक, सीएम, भाजपा के किसी नेता ने आज तक एक शब्द नही बोला। जगदीश के परिजनों के प्रति शोक संवेदना तक नहीं जताई। और न ही उन्हें कोई राहत दी गयी। कहा कि प्रशासन व सरकार जिस मुआवजे की बात कर रही है वह कानून में है। इससे साबित होता है कि सरकार इस पूरे मामले की दोषी है और अपने लोगो को बचाना चाहती है। साथ ही जगदीश की निर्मम हत्या में सरकार की चुप्पी कई सवाल खड़े कर रही है।

जगदीश की हत्या के जिम्मेदारों पर कार्रवाई हो: ध्यानी

उपपा के केंद्रीय उपाध्यक्ष प्रभात ध्यानी ने कहा की कुछ जातिवादी मानसिकता से ग्रसित लोगो ने जगदीश की निर्मम हत्या कर दी। लेकिन इससे भी दुर्भाग्यपूर्ण यह है कि सीएम पुष्कर सिंह धामी, सांसद अजय टम्टा सल्ट आते है लेकिन पीड़ित परिवार के लिए एक शब्द नहीं बोलते है। साथ ही स्थानीय भाजपा विधायक महेश जीना भी मामले में चुप्पी साधे है। उन्होंने कहा कि जगदीश हत्याकांड के जो जिम्मेदार लोग है वह सन्नाटे में है। उन्होंने जगदीश, उसकी पत्नी गीता व परिजनों को न्याय दिलाने की मांग करते हुवे पूरे मामले की सुनावई फास्ट ट्रैक कोर्ट में करने व मामले में जिम्मेदार अल्मोड़ा पुलिस व जिला प्रशासन की जांच कर उनके खिलाफ कठोर कार्रवाई करने की मांग की। ध्यानी ने कहा कि अगर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई नही हुई व पीड़ित परिवार को न्याय नही मिला तो प्रदेश समेत पूरे देशभर में आंदोलन किये जाएंगे।

समाजवादी लोक मंच के मुनीश कुमार ने कहा कि सामाजिक अन्यायों के पीछे मानवता विरोधी मानसिकता और जगदीश की जान इसी जातिवादी और मानवताविरोधी मानसिकता तथा प्रशासन की लापरवाहियों ने ली है।

वही, प्रदर्शन में पहुंचे जगदीश के परिजनों व ग्रामीणों ने जगदीश के हत्यारों को फांसी की सजा, पीड़ित परिवार को सुरक्षा, जगदीश की पत्नी व जगदीश के परिवार से किसी एक सदस्य को सरकारी नौकरी दिए जाने की मांग की। कार्यक्रम में तय किया गया कि इसी माह जल्द ही अल्मोड़ा में प्रदर्शन किया जाएगा।

प्रदर्शनकारियों ने पुलिस पर उठाए सवाल

इस दौरान अल्मोड़ा जिला मुख्यालय समेत, द्वाराहाट, रानीखेत, चौखुटिया, सल्ट, भतरौजखान थाने की पुलिस प्रदर्शनस्थल पर मौजूद रही। जिस पर प्रदर्शनकारियों ने सवाल करते हुए कहा कि जितनी संख्या में पुलिस बल आज प्रदर्शन स्थल पर प्रदर्शनकारियों की आवाज को दबाने के लिए लगाया गया है। अगर यही पुलिस दलित नेता जगदीश व उसकी पत्नी की सुरक्षा का ध्यान देती तो शायद जगदीश आज जिंदा होता।

सभा को इन लोगों ने किया संबोधित

सभा को जगदीश के परिवार से उनकी बहन गंगा, भाई पृथ्वीपाल, पनुवाद्योखन के बीडीसी सदस्य खीमानंद, एडवोकेट भोलेशंकर, एडवोकेट नारायण राम, प्रेम आर्या, जीवन चंद्र, उच्च न्यायालय, नैनीताल की अधिवक्ता स्निग्धा तिवारी, आनंदी वर्मा, नंदी नैनवाल, उछास की भारती पांडे, द्वाराहाट के भुवन लहरी, नैनीताल की माया चिलवाल, डॉ. उमा भट्ट, बसंती पाठक, पौड़ी के नरेश चंद्र नौड़ियाल, रामनगर के चिंता राम, लालमणि, किरन आर्या, अमीनुर्रहमान, नैनीताल से आए वरिष्ठ पत्रकार उमेश तिवारी विश्वास, संयुक्त किसान संघर्ष समिति के ललित उप्रेती, इंकलाबी मज़दूर केंद्र के रोहित, ईको सेंसिटिव ज़ोन के.एम.आर टम्टा आदि लोगों ने संबोधित किया।

कार्यक्रम का संचालन उपपा के केंद्रीय उपाध्यक्ष प्रभात ध्यानी ने किया। प्रदर्शन में गोपाल राम, राजू गिरी, उत्तराखंड छात्र संगठन की दीक्षा सुयाल, दीपांशु पांडे समेत प्रगतिशील महिला एकता मंच, वन ग्राम संघर्ष समिति, उत्तराखंड छात्र संगठन, युवा एकता मंच, भीम आर्मी समेत अनेक संगठनों के लोग शामिल रहे।

Related posts

रानीखेत में अग्निवीर भर्ती में फर्जी दस्तावेजों से शामिल होने वाला युवक गिरफ्तार

ANAND SINGH AITHANI

zomato के डिलीवरी पार्टनरस् ने अल्मोड़ा में किया धरना प्रदर्शन।।

SONI JOSHI

स्वास्थ्य योजनाओं को घर-घर पहुंचाने वाली आशाओं के काम की निगरानी अब होगी ऐप के जरिए ।

ANAND SINGH AITHANI
X
error: Alert: Content selection is disabled!!
Join WhatsApp group