December 1, 2022
UK 360 News
राष्ट्रीय

राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र ने फर्जी एसएमएस की त्वरित जांच की और बड़ी वित्तीय ठगी होने से बचा लिया

राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र (एनआईसी) को नौकरी देने की पेशकश करने वाले एक फर्जी एसएमएस की सूचना मिली थी। एसएमएस में एनआईसी का नाम लेकर उसे आम जनता को भेजा गया था। फर्जी एसएमएस की सूचना मिलने पर, एनआईसी की टीम ने फौरन आंतरिक पड़ताल शुरू कर दी। पड़ताल में पता लगा कि फर्जी एसएमएस, एनआईसी की तरफ से नहीं भेजा गया था। यह देखकर कि फर्जी एसएमएस के पीछे एनआईसी के नाम का गलत इस्तेमाल किया जा रहा है, तो इसे साइबर अपराध माना गया, जिसमें एक भारी वित्तीय ठगी की संभावना भी नजर आई। इसके मद्देनडजर एनआईसी ने फौरन सीईआरटी-इन (इंडियन कंप्यूटर एमरजेंसी रिस्पॉन्स टीम) को रिपोर्ट किया। एनआईसी ने कानून लागू करने वाली एजेंसियों के पास भी शिकायत दर्ज की, ताकि इस फर्जी एसएमएस को भेजने वालों की पहचान करके उनके खिलाफ कार्रवाई की जाये। आगे इस तरह के बेजा इस्तेमाल को रोकने के लिये, सीईआरटी-इन ने ठगी करने वाले यूआरएल के खिलाफ फौरन कार्रवाई करने के लिये सम्बंधित प्राधिकारों के साथ सहयोग किया।

आम जनता को यहां सलाह दी जाती है कि वह ऐसे फर्जी एसएमएस से होशियार रहें और ठगी करने वाले किसी भी एसएमएस की रिपोर्ट [email protected] और https://cybercrime.gov.in पर करे।

Related posts

आईएएफ हेरिटेज सेंटर को पंजाब इंजीनियरिंग कॉलेज से “एयरफोर्स कानपुर-I” की प्राप्ति

SONI JOSHI

उज्बेकिस्तान ने अपने देश में शूटिंग के लिए भारतीय फिल्म निर्माताओं के लिए रेड कारपेट बिछाया

SONI JOSHI

श्री सर्बानंद सोनोवाल ने आईएमयू दीक्षांत समारोह में हिंद महासागर की नीली अर्थव्यवस्था की क्षमता का उपयोग करने के लिए विभिन्न पहलों की घोषणा की

UK 360 News
X
error: Alert: Content selection is disabled!!
Join WhatsApp group