मलबे की चपेट में आने से पोकलैंड के साथ ऑपरेटर खाई में गिरा, मौत; SSB और पुलिस ने शव को निकाला बाहर

2 Min Read

टनकपुर-तवाघाट एनएच के एलागाड़ में कार्य करने के दौरान मलबा आने से पोकलैंड के साथ ऑपरेटर 50 मीटर गहरी खाई में जा गिरा। मौके ऑपरेटर की मौत हो गई। टनकपुर-तवाघाट एनएच के एलागाड़ में कार्य करने के दौरान मलबा आने से पोकलैंड के साथ ऑपरेटर 50 मीटर गहरी खाई में जा गिरा।

- Advertisement -
Ad imageAd image

मौके ऑपरेटर की मौत हो गई। घटना सुबह करीब 6 बजे हुई। घटना की सूचना मिलते ही 11 वाहिनी एसएसबी के एसी जुबैर अहमद और उनके साथ 15 जीवन, तहसीलदार राम प्रसाद आर्या, पुलिस के एसाई प्रदीप कुमार, हिलवेज के अधिकारी मौके में पहुंचे। एसएसबी और पुलिस की टीम ने रेस्क्यू कर शव को धारचूला अस्पताल पहुंचाया।जहां पोस्टमार्टम की कार्रवाई की जा रही है। 

- Advertisement -
Ad imageAd image

मिली जानकारी के अनुसार, टनकपुर-तवाघाट एनएच में सोमवार सुबह 6 बजकर 18 मिनट में एलागाड़ के पास एनएचपीसी से 100 मीटर आगे हिलवेज कंपनी के ऑपरेटर मलबा सफाई के दौरान अचानक ऊपर से मलबा आने के कारण हिलवेज कंपनी का पोकलैंड मशीन का ऑपरेटर मशीन और मलबे के साथ 50 मीटर गहरी खाई में गिर गया। जिसमें पोकलैंड ऑपरेटर श्यामलाल (28) हिमाचल प्रदेश के चंबा निवासी की मौके पर ही मौत हो गई। 

- Advertisement -

घटना के बाद से सड़क का कार्य फिलहाल बंद है। जिसके कारण आदि कैलाश, पंचाचुली यात्री और स्थानीय लोग सड़क बंद होने से दोनों तरफ फंसे है। सड़क शाम तक खुलने की उम्मीद जताई जा रही है।एलागाड़ में सड़क बंद होने आदि कैलाश और पंचाचुली यात्री के साथ-साथ स्थानीय लोग सुबह 6 बजे से अभी तक फंसे हुए है। 

- Advertisement -

200 से 250 गाड़ियां सड़क के दोनों ओर फंसे हुए है। यात्रियों ने घटना में ऑपरेटर की मौत पर संवेदना व्यक्त की।छत्तीसगढ़ से आए यात्री महेश कुमार साहू ने फंसे हुए यात्रियों की परेशानी को देखते हुए सड़क को शीघ्र खोलने की मांग प्रशासन से की है।

Share This Article
Leave a comment