अल्मोड़ा और जागेश्वर पहुंचने वाले पर्यटकों को नहीं मिलेंगे पर्यटक आवास गृह

News Desk
3 Min Read

- Advertisement -
Ad imageAd image

अल्मोड़ा और जागेश्वर पहुंचने वाले पर्यटकों को पर्यटक आवास गृह (टीआरसी) नहीं मिलेंगे और उन्हें होटल में शरण लेनी पड़ेगी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जागेश्वर दौरे को लेकर प्रशासन ने दोनों स्थानों पर सभी टीआरसी का अधिग्रहण कर लिया है जिसमें वीआईपी के ठहरने की व्यवस्था होगी। इसके अलावा यहां 22 होटल का भी अधिग्रहण किया है और होटल मालिकों को भी अधिक वीआईपी मूवमेंट होने की संभावना को देखते हुए एडवांस बुकिंग नहीं करने के निर्देश जारी किए गए हैं।

पीएम मोदी का 12 अक्तूबर को जागेश्वर धाम पहुंचने का कार्यक्रम लगभग तय है। वह यहां पूजा अर्चना के साथ धाम की परिक्रमा करेंगे। सूत्रों के मुताबिक पीएम के कार्यक्रम में कई विशिष्ट लोग शामिल होंगे। उन्हें किसी भी तरह की दिक्कत न हो और उनके ठहरने के लिए जगह की कमी न हो, इसके लिए प्रशासन ने अल्मोड़ा नगर और जागेश्वर के सभी टीआरसी के साथ कुछ होटल का भी अधिग्रहण किया है। जानकारी के मुताबिक 25 होटल, टीआरसी प्रशासन के अधीन रहेंगे। आठ से 12 अक्तूबर तक चिह्नित होटल, टीआरसी में किसी को भी एंट्री नहीं मिलेगी। इनमें सुरक्षा के भी पुख्ता इंतजाम रहेंगे।

सांसद और सीडीओ ने परखीं व्यवस्थाएं
अल्मोड़ा। सांसद अजय टम्टा और सीडीओ आकांक्षा कोंडे ने शुक्रवार को जागेश्वर धाम पहुंचकर प्रधानमंत्री के दौरे को लेकर की जा रही व्यवस्थाओं को परखा। सांसद ने कहा कि पीएम मोदी के जागेश्वर पहुंचने से इस धाम के साथ ही जिले को नई पहचान मिलेगी। उन्होंने संबंधित अधिकारियों से तय समय पर तैयारी पूरी करने के निर्देश दिए। सीडीओ ने बिजली, पानी आदि व्यवस्थाओं का निरीक्षण किया।

एक ही स्वरूप में नजर आएंगे जागेश्वर धाम के आसपास के मकान
अल्मोड़ा। प्रधानमंत्री मोदी के दौरे को लेकर जागेश्वर धाम और इसके आसपास सफाई व्यवस्था के साथ ही मंदिर और मकानों को चमकाने का काम तेजी से हो रहा है। मंदिर के आसपास के सभी मकानों में रंगरोगन किया जाएगा। ये सभी मकान एक ही रंग में रंगे नजर आएंगे, इसके लिए प्रशासन रात-दिन काम कर रहा है।

Share This Article
Leave a comment