अल्मोड़ा जिले में गहराया जल संकट, कम पड़ गए टैंकर

2 Min Read

अल्मोड़ा जिले के विभिन्न हिस्सों में गर्मी बढ़ने के साथ ही जल संकट गहरा गया है। हालात यह हैं कि नलों में जलापूर्ति ठप है और पानी बांटने के लिए टैंकर कम पड़ गए हैं। पिकअप, डंपर का अधिग्रहण कर इनके माध्यम से पानी बांटना पड़ रहा है।
जिले के तोली, सोमेश्वर, बल्टा, लमगड़ा क्षेत्र में पेयजल योजनाओं के जवाब देने से जलापूर्ति ठप रही। जल स्रोतों का जलस्तर घटने से योजनाओं से जलापूर्ति नहीं हुई और नल सूखे रहे।

- Advertisement -
Ad imageAd image

लोग घंटों नल से जल टपकने का इंतजार करते रहे, लेकिन उन्हें मायूसी हाथ लगी। मजबूरन उन्हें प्राकृतिक जल स्रोतों की दौड़ लगानी पड़ी।जल संस्थान के पास सिर्फ तीन टैंकर अल्मोड़ा जिले में हर साल गर्मियों में जल संकट गंभीर समस्या बनता है। टैंकरों से पानी बांटने की परंपरा सालों से चली आ रही है। हैरानी की बात यह है कि जल संस्थान के पास पर्याप्त टैंकर उपलब्ध नहीं हैं।

- Advertisement -
Ad imageAd image

स्रोतों का जलस्तर घटने से समस्या आई है। टैंकर, पिकअप, डंपर से पानी बांटा जा रहा है। प्रभावित लोगों को पर्याप्त पानी उपलब्ध कराना संस्थान की जिम्मेदारी है। संस्थान लोगों की समस्या के प्रति गंभीरता से काम कर रहा है।

- Advertisement -

- Advertisement -

विरेंद्र सिंह मेहता, जेई, जल संस्थान, अल्मोड़ा।

Share This Article
Leave a comment