Window Vs Split: कौन-सा AC खरीदें? जिसकी कूलिंग भी हो जबरदस्‍त और बिजली बिल में भी हो बचत!

News Desk
3 Min Read

- Advertisement -
Ad imageAd image

Air Conditioner : एयर कंडीशनिंग कई घरों के लिए गर्मी मौसम के दौरान एक जीने का सहारा बन चुका है. हालांकि, यह आपके मासिक बिजली बिल को भी बढ़ा देता है. जब स्प्लिट और विंडो एयर कंडीशनर के बीच एक चुनने  की बात आती है, तो ऐसे कई फैक्टर हैं जिन पर विचार किया जाना चाहिए. इनमें से ही एक सबसे जरूरी फैक्टर यह है कि स्प्लिट और विंडो एसी में से कौन-सा एसी महीने का बिजली बिल कम लाएगा. इस खबर में हम बताने जा रहे हैं कि आप कैसे अपने महीने के बिल को कम से कम रख सकते हैं.

स्प्लिट AC 

सामान्य तौर पर, विंडो एयर कंडीशनर की तुलना में स्प्लिट एयर कंडीशनर अधिक ऊर्जा कुशल होते हैं. ऐसा इसलिए है क्योंकि स्प्लिट एसी में दो अलग-अलग यूनिट होती हैं – एक इनडोर यूनिट और एक आउटडोर यूनिट – जो तापमान को बनाए रखती हैं, और AC को कमरे को ठंडा करने में ज्यादा मेहनत नहीं करनी पड़ती है. इसके अलावा, स्प्लिट एसी अक्सर इन्वर्टर तकनीक जैसे फीचर्स के साथ आते हैं, जो उनकी ऊर्जा दक्षता को और बढ़ाता है.

विंडो AC 

दूसरी ओर, विंडो एयर कंडीशनर आमतौर पर स्प्लिट एसी की तुलना में कम ऊर्जा कुशल होते हैं, क्योंकि विंडो एसी को एक कमरे को ठंडा करने के लिए डिजाइन किया गया है. विंडो एसी में तापमान कंट्रोल के लिमिटेड विकल्प हैं. इसके अलावा, विंडो एसी में अक्सर स्प्लिट एसी की तुलना में कम कूलिंग कैपेसिटी होती है, जिसका अर्थ है कि उन्हें उसी एरिया को ठंडा करने के लिए अधिक मेहनत करनी पड़ती है.

कौन बचाता है बिजली?

हां, स्प्लिट एयर कंडीशनर आमतौर पर अधिक ऊर्जा कुशल होते हैं, लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि स्प्लिट एसी का मासिक बिजली बिल हमेशा कम होगा. दरअसल, दोनों प्रकार के एयर कंडीशनर की ऊर्जा दक्षता कमरे के आकार, कमरे के इन्सुलेशन और स्थानीय जलवायु जैसे फैक्टर पर भिन्न हो सकती है. इसलिए, ऐसा एयर कंडीशनर चुनना जरुरी है जो आपके कमरे के लिए उचित आकार का हो.

अगर आपका छोटा कमरा है, तो विंडो एयर कंडीशनर स्प्लिट एयर कंडीशनर की तुलना में अधिक कुशल और बढ़िया हो सकता है. दूसरी ओर, अगर आपके कमरे का साइज बड़ा है, या कई कमरे हैं, तो एक स्प्लिट एयर कंडीशनर अधिक ऊर्जा कुशल हो सकता है, जिससे मासिक बिजली बिल कम आयेगा. अब अगर आप अपने बिजली के बिल को कम करना चाहते हैं, तो अन्य कारकों पर भी विचार करें.

Share This Article
Leave a comment