Advertisement
रामनगरउत्तराखंडनैनीताल

पकड़े गए दो बाघ, लगातार मवेशियों को बना रहे थे निवाला

रामनगर कॉर्बेट टाइगर रिजर्व व रामनगर तराई पश्चिम के लगते क्षेत्र कानियाँ व आसपास के क्षेत्र में लगातार मवेशियों को निवाला बना रहे बाघ व उसके शावक को देर रात कॉर्बेट प्रशासन ने किया ट्रेंकुलाइ,भेजा रेसक्यू सेंटर।
आसान शिकार के चलते आबादी की तरफ रुख करना माना जा रहा है पहला कारण।

Advertisement

आपको बता दें कि रामनगर के कानिया और आसपास के क्षेत्र में आतंक का पर्याय बन चुके दोनों बाघ को देर रात 1:30बजे पार्क प्रशासन ने सकुशल पकड़ लिया है। इनको कॉर्बेट नेशनल पार्क के ढेला रेंज में स्थित रेस्क्यू सेंटर में ले जाया गया है।
ढेला रेस्क्यू सेंटर में इन बाघो का परीक्षण होगा और स्वस्थ होने पर अंदर जंगल में छोड़ दिया जाएगा.

Advertisement

वहीं आज ग्रामीणों ने राहत की सांस ली और कोर्बेट नेशनल पार्क को यह एक बहुत बड़ी सफलता मिली है।बता दें कि कॉर्बेट टाइगर रिज़र्व के अंतर्गत पड़ने वाले ग्राम कानियाँ में बाघ की दहशत बनी हुई थी।जिसमे पिछले दो हफ्ते में बाघ द्वारा 5 से ज्यादा मवेशियों को अपना निवाला बना दिया था ,जिसके बाद पिछले हफ्ते ग्रामीणों में आक्रोश भी देखा गया था और ग्रामीणों ने साँवल्दे ढेला मार्ग को कुछ घंटे के लिए बंद कर दिया था और बाघ को पकड़े जाने की मांग की थी।उक्त घटनाओं के लिए कॉर्बेट प्रशासन ने जिम्मेदार बाघ को चीन्हित कर लिया है, तथा मुख्य वन्यजीव प्रतिपालक, उत्तराखण्ड से उक्त चिन्हित बाघ को ट्रैकुलाईज कर क्षेत्र से पकड़ कर हटाने की अनुमति देर शाम प्राप्त कर ली थी।

वहीं अनुमति मिलने के कुछ घंटों में ही कॉर्बेट प्रशासन ने चिंहित बाघ को रात 1:30बजे ट्रेंकुलाइज कर लिया है,जिसमे एक से 9 वर्षीय बाघिन के साथ ही उसका शावक भी है। वही बाघ का प्रशिक्षण में दोनों ही बाघ स्वस्थ है और उनके सैंपल भेजे जाने की कार्रवाई की जा रही है।

Advertisement

वही जानकारी देते हुए कॉर्बेट टाइगर रिजर्व के निदेशक डॉक्टर धीरज पांडे ने बताया कि पिछले कुछ समय से कॉर्बेट व तराई पश्चिमी से लगते कानियाँ क्षेत्र में बाघों की उपस्थिति दर्ज की जा रही थी, जिस क्रम में हमारे द्वारा उस क्षेत्र में कैमरा ट्रैप लगाने के साथ ही रात और दिन गस्त करने के साथ ही ड्रोन से भी लगातार निगरानी रखी जा रही थी, वही चीफ वाइल्डलाइफ वार्डन की अनुमति के बाद आज क्षेत्र से एक बाघिन व उसके एक शावक को ट्रेंकुलाइज कर लिया गया है।दोनो बाघ स्वस्थ है और दोनों की निगरानी की जा रही है।उन्होंने कहाँ कि मादा बाघ स्वस्थ्य है पर उसकी उम्र ज्यादा है।उन्होंने कहाँ कि आसान शिकार करने के चलते वो आबादी की तरफ आ रही है,यह प्रतीत हो रहा है,उन्होंने कहाँ कि अभी कैमरा ट्रैप यथावत लगाए रखने के निर्देश दिए गए है साथ ही क्षेत्र में वनकर्मी भी लगातार गस्त करेंगे।

Multiplex Advertisement
Advertisement

Related Articles

Back to top button
अरबाज सिंह था टाक्सिक रिलेशनशिप ? Ex गर्लफ्रैंड का खुलासा Unlocking the Secrets: How Long Should Kids Use Mobiles? केले खाने के स्वास्थ्य और पोषण से संबंधित फायदे भोजपुरी एक्ट्रेस मोनालिसा की बोल्डनेस ने उड़ाए होश 10 Worst-Rated Films of Kangana Ranaut करवा चौथ: व्रत, प्यार और परम्परा

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker