अल्मोड़ा मेडिकल कालेज की लचर स्वास्थ्य सेवाओं के विरोध में बिट्टू कर्नाटक ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ किया प्राचार्य का घेराव, मुख्यमंत्री को भेजा ज्ञापन

4 Min Read

आज उत्तराखंड कांग्रेस के वरिष्ठ प्रदेश उपाध्यक्ष एवं पूर्व दर्जामंत्री बिट्टू कर्नाटक ने अल्मोड़ा मेडिकल कालेज की लचर स्वास्थ्य सेवाओं के विरोध में मेडिकल कालेज के प्राचार्य का कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ घेराव किया। उन्होंने कहा कि प्रसूति विभाग द्वारा गर्भवती महिलाओं के प्रसव में की जा रही लापरवाही अब बर्दाश्त से बाहर है। मेडिकल कालेज प्रारम्भ होने के बाद भी यहां से गर्भवती महिलाओं को हल्द्वानी रेफर किया जा रहा है जो स्पष्ट तौर पर मेडिकल कालेज और प्रदेश सरकार के मुंह पर भी करारा तमाचा है। उन्होंने कहा कि विगत दो माह पूर्व टाटिक में हुई कार दुर्घटना के गंभीर रूप से घायल बच्चों को हल्द्वानी ले जाने के लिए भी मेडिकल कालेज के पास साबुत एम्बुलेंस तक नहीं थी।

- Advertisement -
Ad imageAd image

जो एम्बुलेंस घंटों बाद आयी भी उसे धक्का लगाकर स्टार्ट करना पड़ा। उन्होंने कहा कि विगत दिवस ग्राम अधार मटेला की इंदु मनराल पत्नी महेन्द्र सिंह मनराल को प्रसव के लिए अल्मोड़ा लाया जा रहा था। परन्तु मेडिकल कालेज प्रशासन की अनदेखी पर वहां के ग्राम प्रधान गौरव काण्डपाल ने उन्हें फोन किया जिसपर तत्काल उन्होंने मुख्य चिकित्साधिकारी और मेडिकल कालेज के प्रधानाचार्य को फोन किया। कर्नाटक ने कहा कि महिला की स्वास्थ्य सुरक्षा के लिए उन्होंने मेडिकल कालेज में जब इन्दु नाम की गर्भवती महिला प्रसव कराने मेडिकल कालेज पहुंची जहां प्रसूति विभाग महिला को हल्द्वानी रेफर कर दिया। मेडिकल कालेज की जिस एम्बुलेंस में महिला को ले जाया गया वो एम्बुलेंस होटल मैनेजमेंट के पास ही बन्द हो गया। कर्नाटक ने बताया कि उनके द्वारा जब मेडिकल कालेज के प्रधानाचार्य और मुख्य चिकित्साधिकारी को इसकी सूचना दी तो मेडिकल कालेज में महिला का प्रसव कराने की मांग की गयी तो आनन फानन में मेडिकल कालेज द्वारा मेडिकल कालेज में ही महिला का प्रसव कराना पड़ा।

- Advertisement -
Ad imageAd image

उन्होंने कहा कि प्रसूति विभाग सीधे महिलाओं को अन्यत्र रेफर कर रहा है। उन्होंने कहा कि मेडिकल कालेज में जीवनदायिनी एम्बुलेंस तक नहीं हैं जो कभी भी किसी गंभीर परिस्थिति में अल्मोड़ा की जनता के लिए मौत का सबब बन सकती हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार खामोश हैं जिसका खामियाजा अल्मोड़ा की जनता भुगत रही है। स्वास्थ्य सेवाओं के नाम पर अल्मोड़ा की जनता को छलने का काम किया जा रहा है।जब मेडिकल कालेज जैसी संस्था में एक साबुत एम्बुलेंस तक नहीं हैं तो खुद अन्दाजा लगाया जा सकता है कि यहां कि स्वास्थ्य सुविधाएं क्या होंगी? उन्होंने उप जिलाधिकारी के माध्यम से मुख्यमंत्री को ज्ञापन भेजकर भी मेडिकल कालेज में स्वास्थ्य सुविधाएं दुरूस्त करने की मांग की।ज्ञापन के माध्यम से उन्होंने मांग की कि मेडिकल कालेज में आप्रेशन थियेटर पूरी तरह प्रारम्भ हो,न्यूरो सर्जन,हृदय विशेषज्ञ,विशेषज्ञ चिकित्सकों की तैनाती हो।

- Advertisement -

मेडिकल कालेज में एक दर्जन एम्बुलेंस की व्यवस्था की जाए।गम्भीर रोगियों को एयर लिफ्ट कराने की व्यवस्था की जाए, मेडिकल कालेज में प्रशिक्षित कर्मचारियों की नियुक्ति के साथ ही ब्लड बैंक संचालित किया जाए तथा 108 सेवा का पुनर्गठन कर आधुनिक सुविधाओं से उन्हें सुज्जजित किया जाए। उन्होंने कहा कि यदि अल्मोड़ा की जनता के हित में अविलंब उपरोक्त मांगों को पूरा नहीं किया गया तो उन्हें एक वृहद आन्दोलन को बाध्य होना पड़ेगा।इस अवसर पर उनके साथ वरिष्ठ कांग्रेसी देवेन्द्र प्रसाद कर्नाटक,हाजी नूर अकरम खान,रोहित शैली,हेम जोशी, गौरव कांडपाल,अशोक सिंह,पंकज सिंह राना,रोहन सिंह,सोनू चौहान,विनय चन्दोला, त्रिभुवन महर,सुमित मेहता, नन्दन सिंह,कैलाश चंद्र,जे सी जोशी,सुधीर कुमार, हिमांशु बिष्ट,राकेश बिष्ट, भूपेन्द्र, हिमांशु कनवाल, राहुल कनवाल,सोनू चौहान, पंकज पाण्डे सहित कै लोग उपस्थित रहे।

- Advertisement -
TAGGED:
Share This Article
Leave a comment