अपने पंच से उत्तराखंड की बेटी निकिता ने दिलाया स्वर्ण पदक

1 Min Read

किसने कहा बेटियां कोमल होती हैं।
जो ठान लेती हैं वो करके दिखाती हैं।

- Advertisement -
Ad imageAd image

पिथौरागढ़ के मुक्केबाजों ने जूनियर और यूथ एशियाई चैंपियनशिप में कुल पांच पदक जीतकर रचा इतिहास। कजाकिस्तान के अस्ताना में चल रही जूनियर और यूथ एशियन चैंपियनशिप में आज उत्तराखंड की बिटीयाओं के दमदार पंच की बदौलत भारत की झोली में तीन पदक आए।

- Advertisement -
Ad imageAd image

60 किलोग्राम भार वर्ग में तीसरी बार एशियाई चैंपियन बनीं निकिता चंद ने फाइनल में उज्बेकिस्तान की मुक्केबाज को पहले राउंड में आर.एस.सी. से हराया।

- Advertisement -

वहीं नेहा लूंठी ने कांस्य पदक अपने नाम किया, 63 किलोग्राम भार वर्ग में दीपामेहता ने रजत पदक अपने नाम किया इसी के साथ 66 किलोग्राम भार वर्ग में काजल फर्सवान ने भी रजत पदक जीता।

- Advertisement -
Share This Article
Leave a comment